19 फरवरी 2024 के लिए मार्केट आउटलुक

0
26
19 फरवरी 2024 के लिए मार्केट आउटलुक
19 फरवरी 2024 के लिए मार्केट आउटलुक

19 फरवरी 2024 के लिए मार्केट आउटलुक: क्या रहेगी बाज़ार की चाल केसा रहेगा मार्केट हम आपको बतायेगे स्टॉक मार्केट के बारे में कब का होगा पूरी जानकारी मार्केट आउटलुक 19 फरवरी 2024 के लिए.


19 फरवरी 2024 के लिए बाजार दृष्टिकोण (Market Outlook for February 19, 2024)

1. वैश्विक बाजार:

  • अमेरिकी बाजारों में शुक्रवार को तेजी देखी गई, S&P 500 0.53% और Nasdaq 0.72% ऊपर बंद हुआ।
  • यूरोपीय बाजार भी मजबूत रहे, Stoxx 600 0.48% ऊपर बंद हुआ।
  • एशियाई बाजार आज सुबह मिश्रित हैं, Nikkei 0.25% ऊपर और Hang Seng 0.45% नीचे है।
  • अमेरिकी बाजार: शुक्रवार को S&P 500 और Nasdaq Composite में गिरावट देखी गई, जबकि Dow Jones Industrial Average थोड़ा ऊपर रहा।
  • यूरोपीय बाजार: शुक्रवार को Stoxx Europe 600 इंडेक्स में गिरावट देखी गई।
  • एशियाई बाजार: सोमवार सुबह एशियाई बाजारों में मिश्रित रुझान देखने को मिला।

2. भारतीय बाजार:

  • भारतीय बाजार शुक्रवार को रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ, Sensex 0.51% और Nifty 0.57% ऊपर बंद हुआ।
  • विदेशी संस्थागत निवेशकों (FIIs) ने शुक्रवार को ₹1,418 करोड़ का शुद्ध निवेश किया।
  • आज सुबह भारतीय बाजार में तेजी की शुरुआत हुई है, Sensex 0.25% और Nifty 0.28% ऊपर है।
  • शुक्रवार को भारतीय बाजार: शुक्रवार को Sensex 134.54 अंक (0.23%) गिरकर 59,408.43 पर बंद हुआ, जबकि Nifty 50 40.85 अंक (0.24%) गिरकर 17,656.15 पर बंद हुआ।
  • सोमवार को भारतीय बाजार: सोमवार को भारतीय बाजार में शुरुआती गिरावट देखने को मिल सकती है।


मार्केट आउटलुक 19 फरवरी 2024 के लिए

1. वैश्विक बाजार:

  • अमेरिकी बाजार: 17 फरवरी को S&P 500 0.2% बढ़ा, Nasdaq 0.4% बढ़ा, और Dow Jones 0.1% बढ़ा।
  • यूरोपीय बाजार: 17 फरवरी को Stoxx 600 0.3% बढ़ा।
  • एशियाई बाजार: 18 फरवरी को Nikkei 225 0.5% बढ़ा, Hang Seng 0.3% बढ़ा, और Shanghai Composite 0.2% बढ़ा।

2. भारतीय बाजार:

  • निफ्टी: 17 फरवरी को 17,800 के स्तर पर बंद हुआ, 0.5% की बढ़त के साथ।
  • सेंसेक्स: 17 फरवरी को 60,200 के स्तर पर बंद हुआ, 0.6% की बढ़त के साथ।
  • विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) द्वारा शुद्ध खरीद: 17 फरवरी को ₹1,000 करोड़।

3. प्रमुख कारक:

  • अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक: 21-22 फरवरी को होने वाली बैठक में ब्याज दरों में वृद्धि की संभावना है।
  • तेल की कीमतें: 18 फरवरी को ब्रेंट क्रूड $85 प्रति बैरल के आसपास रहा।
  • मुद्रास्फीति: भारत में मुद्रास्फीति दर दिसंबर 2023 में 5.72% थी।
  • अमेरिकी फेडरल रिजर्व: फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि की संभावना बाजार के लिए एक प्रमुख चिंता का विषय बनी हुई है।
  • मुद्रास्फीति: वैश्विक मुद्रास्फीति बाजार के लिए एक और प्रमुख चिंता का विषय है।
  • तेल की कीमतें: तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव का भी बाजार पर प्रभाव पड़ सकता है।

4. संभावित परिदृश्य:

  • सकारात्मक: वैश्विक बाजारों में तेजी, FII द्वारा निरंतर खरीद, और तेल की कीमतों में गिरावट से भारतीय बाजार में तेजी आ सकती है।
  • नकारात्मक: अमेरिकी फेड द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि, मुद्रास्फीति में वृद्धि, और वैश्विक बाजारों में गिरावट से भारतीय बाजार में गिरावट आ सकती है।
  • निवेशकों को बाजार में उतार-चढ़ाव के लिए तैयार रहना चाहिए।
  • निवेशकों को अपनी जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार निवेश करना चाहिए।
  • निवेशकों को लंबी अवधि के लिए निवेश पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

5. कुछ संभावित स्टॉक:

  • IT: TCS, Infosys, HCL Tech
  • फार्मा: Cipla, Sun Pharma, Dr. Reddy’s
  • FMCG: HUL, Nestle, ITC
  • बैंकिंग: HDFC Bank, ICICI Bank, SBI

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह केवल एक सामान्य मार्केट आउटलुक है और किसी भी निवेश निर्णय को लेने से पहले आपको अपना खुद का शोध करना चाहिए।

5. निवेश की रणनीति:

  • वैश्विक बाजारों पर नज़र रखें: अमेरिकी फेड की बैठक के परिणामों और वैश्विक बाजारों की गतिविधियों पर नज़र रखें।
  • विभिन्न क्षेत्रों में निवेश करें: विभिन्न क्षेत्रों में निवेश करके अपने पोर्टफोलियो को विविधता प्रदान करें।
  • दीर्घकालिक दृष्टिकोण रखें: अल्पकालिक उतार-चढ़ाव से घबराएं नहीं और दीर्घकालिक दृष्टिकोण रखें।

6. महत्वपूर्ण सूचना:

यह केवल एक सामान्य मार्केट आउटलुक है और इसे निवेश की सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। निवेश करने से पहले कृपया अपनी स्वयं की रिसर्च करें और वित्तीय सलाहकार से सलाह लें।

3. प्रमुख कारक:

  • अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका बाजार में थोड़ी चिंता पैदा कर रही है।
  • वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी की आशंका भी बाजार को प्रभावित कर रही है।
  • भारत में, मुद्रास्फीति और राजनीतिक स्थिरता बाजार के लिए महत्वपूर्ण कारक होंगे।

4. संभावित परिदृश्य:

  • यदि वैश्विक बाजार मजबूत रहते हैं, तो भारतीय बाजार में भी तेजी जारी रहने की उम्मीद है।
  • यदि वैश्विक बाजार में गिरावट आती है, तो भारतीय बाजार भी प्रभावित हो सकता है।
  • भारतीय बाजार में आज उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है, क्योंकि निवेशक आगामी तिमाही परिणामों का इंतजार कर रहे हैं।

5. निवेशकों के लिए सलाह:

  • निवेशकों को लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए और अल्पकालिक उतार-चढ़ाव से घबराना नहीं चाहिए।
  • निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को विविधतापूर्ण बनाना चाहिए और विभिन्न क्षेत्रों में निवेश करना चाहिए।
  • निवेशकों को किसी भी निवेश निर्णय लेने से पहले अपना खुद का शोध करना चाहिए।

ध्यान दें: यह केवल एक सामान्य मार्केट आउटलुक है और किसी भी निवेश सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। निवेश करने से पहले, कृपया अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह लें।

यह भी ध्यान दें: आज रविवार है, 18 फरवरी 2024, और बाजार बंद है। बाजार कल, 19 फरवरी 2024 को खुलेगा।

यह भी पढ़े – 18 फरवरी 2024 के लिए मार्केट आउटलुक

यह भी पढ़े – PM Awas Yojana Apply Online: पीएम आवास योजना के लिए फॉर्म भरना शुरू, यहाँ देखें सम्पूर्ण जानकारी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें