8 अप्रैल, 2024 को बाजार का आउटलुक मिश्रित रहने की संभावना है।

विशेषज्ञों का अनुमान है कि 8 अप्रैल को बाजार में शुरुआती तेजी देखने को मिल सकती है।

हालांकि, दिन के दौरान बाजार में कुछ उतार-चढ़ाव हो सकता है।

बाजार की दिशा वैश्विक बाजारों के रुझान, कच्चे तेल की कीमतों और

अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि के बारे में खबरों पर निर्भर करेगी

जो पिछले कुछ हफ्तों में इसका सबसे मजबूत स्तर है।

मजबूत रुपया विदेशी निवेशकों के लिए भारतीय शेयर बाजार को अधिक आकर्षक बनाता है।

विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) की खरीदारी: FII ने पिछले कुछ दिनों में भारतीय शेयर बाजार में भारी खरीदारी की है।

तेल की कीमतों में गिरावट: अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में गिरावट आई है,

निवेशकों को 8 अप्रैल को बाजार की बारीकी से निगरानी करनी चाहिए