राहुल गांधी जयपुर कोर्ट में: क्या है मामला?, राहुल गांधी नई मुसीबत में फंसें, 23 फरवरी को सुनवाई करेगा जयपुर कोर्ट

0
26
राहुल गांधी
राहुल गांधी

राहुल गांधी जयपुर कोर्ट में: क्या है मामला?: Rahul Gandhi कांग्रेस के दिग्गज नेता राहुल गांधी एक नई मुसीबत में फंसें। जयपुर में राहुल गांधी के खिलाफ कोर्ट में एक परिवाद पेश किया गया है। पीएम नरेन्द्र मोदी पर टिप्पणी करने को लेकर जयपुर महानगर-द्वितीय क्षेत्र स्थित महानगर मजिस्ट्रेट (क्रम-11) न्यायालय में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ परिवाद पेश किया है। कोर्ट ने परिवाद पर 23 फरवरी की तारीख दी है।

अधिवक्ता विजय कलंदर की ओर से यह परिवाद पेश किया गया है। परिवाद में कहा कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान राहुल ने पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्म से ओबीसी में नहीं होने की टिप्पणी की। परिवाद में राहुल के बयान से परिवादी की धार्मिक भावनाएं आहत होने का आरोप लगाया गया है। परिवाद में कहा गया कि राहुल गांधी के पीएम मोदी की जाति के खिलाफ दिए बयान से विभिन्न वर्ग व समुदायों में अविश्वास का भाव पैदा हुआ है।

मुख्य बिंदु:

  • राहुल गांधी पर 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ कथित मानहानिकारक बयान देने का आरोप है।
  • जयपुर के एक न्यायालय ने 23 फरवरी को मामले पर सुनवाई तय की है।
  • यह मामला 2019 में दर्ज एक याचिका पर आधारित है।
  • राहुल गांधी पर आरोप है कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को “चौकीदार चोर” कहा था।

विवरण:

2019 लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान, राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर कथित रूप से मानहानिकारक बयान दिया था। इस बयान को लेकर जयपुर में एक याचिका दायर की गई थी। याचिका में आरोप लगाया गया था कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को “चौकीदार चोर” कहा था।

यह मामला 2019 से लंबित था। 2023 में, जयपुर के एक न्यायालय ने मामले की सुनवाई 23 फरवरी, 2024 को तय की है।

संभावित परिणाम:

यह कहना मुश्किल है कि इस मामले का क्या परिणाम होगा। यदि राहुल गांधी को दोषी ठहराया जाता है, तो उन्हें जुर्माना या जेल की सजा हो सकती है।

यह मामला राजनीतिक रूप से भी महत्वपूर्ण है। राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के नेता हैं और 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के मुख्य प्रतिद्वंद्वी माने जाते हैं।

अन्य जानकारी:

  • राहुल गांधी ने पहले भी इस मामले में कई बार बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ कोई मानहानिकारक बयान नहीं दिया है।
  • यह मामला 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले राहुल गांधी के लिए एक बड़ी चुनौती हो सकता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह एक जटिल कानूनी मामला है और इसका परिणाम अनिश्चित है।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि राहुल गांधी को अभी तक दोषी नहीं ठहराया गया है।

Also Read – स्वामी प्रसाद मौर्य की नई पार्टी राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी

यह भी पढ़े – UP Police भर्ती पेपर लीक 2024, पेपर लीक हुआ 5 लोग गिरफ्तार

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें